पटना : Jio के ग्राहक सेवा केंद्र से फोन किया जाता है और रिचार्ज नही करवाने के स्थिति मे नम्बर किसी और को दे देने की धमकी दी जाती है | हम रिलायंस जिओ को यह याद दिला देना चाहते हैं की जब वो आये थे तो उन्होंने कहा था की, incoming कॉल्स के लिए कोई भी रिचार्ज
कराने की आव्यस्कता नही है और उनके पास वैलिडिटी बढाने का भी कोई रिचार्ज विकल्प नही मौजूद है जो की सिर्फ वैलिडिटी बढाए, इससे यह साफ़ प्रतीत होता है की जिओ व्यपार करने के नैतिक मूल्यों और सिधान्तो को भूल चुका है | खराब 4g सेवाए बदस्तूर जारी है | पिछले दिनों आपको याद होगा की AGR बकाये को लेकर अधिकतर टेलिकॉम कम्पनिया फील्ड से बाहर हो चुकी थी और चुकी जिओ एक नई टेलिकॉम प्रदाता थी उसका लाभ रिलायंस जिओ को मिला साथ ही मौजूदा सरकार का भी साथ मिला|
जिओ के launching के दरम्यान (2016 में ) टेस्टिंग के नाम पर ग्राहकों को मुफ्त सेवाए प्रदान की जिससे मौजूदा टेलिकॉम ऑपरेटर पर बहुत ही बुडा प्रभाव परा मुझे पूछना है TRAI -Telecom Regulatory Authority of India से और इस देश की मौजूदा सरकार से की किन वजहों से उसे मुफ्त में 4g का कनेक्शन ग्राहकों को देने की अनुमति दी गई ? अन्य टेलिकॉम ओपेरटर पर इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा इस बात  का ख्याल क्यों नही रखा गया ? एक इंटरव्यू के दौरान Airtel India के मालिक श्री सुनील मित्तल जी ने कहा भी की जब हम बाजार में आये थे तब 10 से 12 टेलिकॉम ओपेरटर थे जो की अब घटकर 2.5 पर सिमट गया वो मार्किट कैप की बात कर रहे थे 0.5 में बीएसएनएल, वोडा और आइडिया आता है और बाद बांकी में एयरटेल और रिलायंस जिओ आता है | एयरटेल बड़ा जहाज था इसलिए बच गया नही तो आज देश में जिओ के अलावा कोई दुसरा प्लेयर होता ही नही ! देश मे, सरकार को प्रतिस्पर्धा और उच्च गुणवक्ता के मानको पर ध्यान देना ही चाहिए, आखिर प्रधानमंत्री Narendra Modi कब अडानी अम्बानी बंधुओ का मोह त्याग करेंगे ? हम सरकार के डिजिटल इंडिया की भी तारीफ़ करते हैं मगर व्यपार बिना नैतिक मूल्यों और सिधान्तो के देश मे हो रहा है इसपर कब चुप्पी तोड़ेंगे मोदी ? बहरहाल, आजकल मालिक है आप बाजार के जो भी चाहो कीमत हमारी रखो !
Note:- विश्लेष्ण पर आपत्ति होने पर आप हमे awarenews24@awarenews24.com पर मेल से सूचित कर सकते हैं | आप इसकी सिकायत मिनिस्ट्री ऑफ़ आईटी के वेबसाइट पर भी जाकर कर सकते हैं | बहुत बहुत धन्यवाद|

By Shubhendu Prakash

Note:- किसी भी तरह के विवाद उत्प्पन होने की स्थिति में इसकी जिम्मेदारी चैनल या संस्थान या फिर news website की नही होगी लेखक इसके लिए स्वयम जिम्मेदार होगा, संसथान में काम या सहयोग देने वाले लोगो पर ही मुकदमा दायर किया जा सकता है. कोर्ट के आदेश के बाद ही लेखक की सुचना मुहैया करवाई जाएगी धन्यवाद शुभेन्दु प्रकाश 2012 से सुचना और प्रोद्योगिकी के क्षेत्र मे कार्यरत है साथ ही पत्रकारिता भी 2009 से कर रहें हैं | कई प्रिंट और इलेक्ट्रनिक मीडिया के लिए काम किया साथ ही ये आईटी services भी मुहैया करवाते हैं | 2020 से शुभेन्दु ने कोरोना को देखते हुए फुल टाइम मे जर्नलिज्म करने का निर्णय लिया अभी ये माटी की पुकार हिंदी माशिक पत्रिका में समाचार सम्पादक के पद पर कार्यरत है साथ ही aware news 24 का भी संचालन कर रहे हैं , शुभेन्दु बहुत सारे न्यूज़ पोर्टल तथा youtube चैनल को भी अपना योगदान देते हैं | अभी भी शुभेन्दु Golden Enterprises नामक फर्म का भी संचालन कर रहें हैं और बेहतर आईटी सेवा के लिए भी कार्य कर रहें हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *