नई दिल्‍ली। ग्‍लोबल कायस्‍थ कांफ्रेंस (जीकेसी) नयी दिल्ली ईकाई की महत्वपूर्ण बैठक हुयी, जिसमें 19 दिसंबर को होने वाले विश्व कायस्थ सम्मेलन उम्मीदों का कारंवा की तैयारी को लेकर विस्तृत चर्चा की गयी।
लक्ष्‍मी नगर स्थित सीए विकास चंद्रा के कार्यालय में (जीकेसी) नयी दिल्ली ईकाई की महत्वपूर्ण बैठक हुयी। जीकेसी के दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष इंजीनियर सुनील कुमार जी की अध्‍यक्षता में आयोजित इस बैठक में बतौर मुख्‍य अतिथि जीकेसी एजुकेशन सेल के ग्‍लोबल अध्‍यक्ष श्री दीपक कुमार वर्मा मौजूद रहे। श्री दीपक कुमार वर्मा बैठक में उपस्थित चित्रांश बंधुओं को संबोधित करते हुए कहा कि चित्रगुप्‍त की काया से उत्‍पन्‍न कायस्‍थ जाति का गौरवशाली इतिहास रहा है, लेकिन, समय और विपरित परिस्थिति की वजह से हमलोग अपने आप में सिमट गए हैं, जिसे अब दूर करने का समय आ गया है। उन्‍होंने कहा कि अब समय आ गया है कि हम अपने को देश और दुनिया के सामने को साबित करें कि हमलोग एकजुट हैं। जीकेसी समाज के लिए कई योजनाओं पर काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि खासकर चित्रांश परिवार के बच्‍चों के लिए एजुकेशन को बेहतर बनाने के लिए एक रोडमैप तैयार किया जा रहा है, जिससे किस क्षेत्र में जाना चाहते हैं, इसकी दिशा 9वीं और 10वीं कक्षा में ही तय हो जाए। उन्‍होंने कहा कि देशभर में जितने भी कायस्‍थ महासभा है उसको जीकेसी से जोड़कर एक अंब्रेला का आकार देना है, जिससे सभी की पहचान बनी रहे और वे हमारे साथ बेहतर काम कर सकें।
इस अवसर पर दिल्‍ली प्रदेश के अध्यक्ष इंजीनियर सुनील कुमार ने 19 दिसंबर को होने वाले विश्व कायस्थ सम्मेलन उम्मीदों का कारंवा की तैयारी को लेकर विस्‍तृत जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि हमने इस अभियान को सफल बनाने को लेकर अलग-अलग कमेटियों का गठन किया है, जो अपने-अपने काम को सफलतापूर्वक अंजाम देगी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में हमलोग अपने समाज के लिए एजुकेशन और रोजगार मुहैया कराने के लिए काम कर रहे हैं। इस बैठक मे ग्लोबल महासचिव,ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस श्री मनोज कुमार श्रीवास्तव भी मौजूद थे, वहीं इस बैठक में सीए विकास चंद्रा,शालिनी सिन्हा,महिला प्रदेश अध्यक्ष
संध्या श्रीवास्तव, प्रजेश शंकर, सौरभ श्रीवास्तव,मुकेश कुमार ,संजीव कुमार, हीरा लाल कर्ण समेत जीकेसी के कई सदस्य उपस्थित थे।

By Shubhendu Prakash

Note:- किसी भी तरह के विवाद उत्प्पन होने की स्थिति में इसकी जिम्मेदारी चैनल या संस्थान या फिर news website की नही होगी लेखक इसके लिए स्वयम जिम्मेदार होगा, संसथान में काम या सहयोग देने वाले लोगो पर ही मुकदमा दायर किया जा सकता है. कोर्ट के आदेश के बाद ही लेखक की सुचना मुहैया करवाई जाएगी धन्यवाद शुभेन्दु प्रकाश 2012 से सुचना और प्रोद्योगिकी के क्षेत्र मे कार्यरत है साथ ही पत्रकारिता भी 2009 से कर रहें हैं | कई प्रिंट और इलेक्ट्रनिक मीडिया के लिए काम किया साथ ही ये आईटी services भी मुहैया करवाते हैं | 2020 से शुभेन्दु ने कोरोना को देखते हुए फुल टाइम मे जर्नलिज्म करने का निर्णय लिया अभी ये माटी की पुकार हिंदी माशिक पत्रिका में समाचार सम्पादक के पद पर कार्यरत है साथ ही aware news 24 का भी संचालन कर रहे हैं , शुभेन्दु बहुत सारे न्यूज़ पोर्टल तथा youtube चैनल को भी अपना योगदान देते हैं | अभी भी शुभेन्दु Golden Enterprises नामक फर्म का भी संचालन कर रहें हैं और बेहतर आईटी सेवा के लिए भी कार्य कर रहें हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *