belive in youself विश्वास

खुद पर भरोषा रखिये मतलब belive in yourself

#EXPECTATION और लाभ हानि का भाव किसी व्यक्ति से मिलने पर अविश्वास का परिचायक है.

फिर आप कहते हैं मुझे बहुत धोखेबाज लोग मिले बड़ा सवाल यह है की वो धोखेबाज था या आप आपने भी तो कामना पाली थी वास्तव में ऐसे लोग किताबी है। जो ज्ञान का प्रदर्शन तो करते है मगर ये उनका स्वांग है। मतलब ज्ञानी होने का ढोंग करना कोई भी व्यक्ति जिससे आप नया नया मिलते हैं। फिर आप उसमे लाभ और हानि को देखकर उसका हाँथ छोड़ते और पकड़ते हैं। मतलब आपके मन में अभी भी expectation है।

कोई व्यक्ति अगर आपसे नही मिलता या फिर बात चित नही होती तो हो सकता है उक्त व्यक्ति के पास समय की कमी हो मगर जो इंसान आपसे घंटो बात करे और एक दिन अचानक गायब हो जाए मतलब वो आपको जज कर रहा था। की आप उसके लिए उपयोगी है या नही ! कीसी भी बात की कामना होना किसी से चाहे वो शरीर की कामना हो या फिर पैसा या सहयोग, किसी भी तरह की इच्छा रखने वाला मनुष्य ज्ञानी नही अपितु ढोंग कर रहा होता है।

ख्याति से इसका कोई लेना देना नही आपका बड़ा नाम है या आप कितने ही सोहरत वाले क्यों न हो आपका ज्ञान और ख्याति सब एक माया है और आप माया से गर्षित है। इच्छा का त्याग मान सम्मान का त्याग समय आने पर शरीर तक का त्याग ही ज्ञानवान व्यक्ति होने की पहचान है। ज्ञान और ज्ञान ढूंढता है. मतलब वो सिर्फ ज्ञान खोजता है आपके पास कितनी ख्याति है इससे उसका कोई लेना देना ही नही. जैसे कचड़े में फेंका हुआ कोई धर्म ग्रन्थ या फिर मरोरे हुए रूपये की वैल्यू कम नही होती।

उसकी पहचान करनेवाला वास्तव में ज्ञानी है। ज्ञानियों के पास न तो कोई इच्छा है न कोई लोभ लालच बस वो कर्म में लीन रहता है। कई लोग धन और ऐश्वर्य देख कर अंधे हो जाते हैं। क्योंकि ये उनकी कामना थी फिर कामना से मोह और मोह से घमंड तक का सफर तय करते हैं। ज्ञान का होना मतलब अविश्वास का नास इच्छा का नास नए लोगो की तलास बिना कोई लालसा के नए ज्ञानियों की खोज आप करते हैं। जिसमे आपका कोई लाभ है ही नही. फिर भी ज्ञान और ज्ञान ढूंढता है बहरहाल ……….. राधे राधे
#shubhendukecomments

By Shubhendu Prakash

Note:- किसी भी तरह के विवाद उत्प्पन होने की स्थिति में इसकी जिम्मेदारी चैनल या संस्थान या फिर news website की नही होगी लेखक इसके लिए स्वयम जिम्मेदार होगा, संसथान में काम या सहयोग देने वाले लोगो पर ही मुकदमा दायर किया जा सकता है. कोर्ट के आदेश के बाद ही लेखक की सुचना मुहैया करवाई जाएगी धन्यवाद शुभेन्दु प्रकाश 2012 से सुचना और प्रोद्योगिकी के क्षेत्र मे कार्यरत है साथ ही पत्रकारिता भी 2009 से कर रहें हैं | कई प्रिंट और इलेक्ट्रनिक मीडिया के लिए काम किया साथ ही ये आईटी services भी मुहैया करवाते हैं | 2020 से शुभेन्दु ने कोरोना को देखते हुए फुल टाइम मे जर्नलिज्म करने का निर्णय लिया अभी ये माटी की पुकार हिंदी माशिक पत्रिका में समाचार सम्पादक के पद पर कार्यरत है साथ ही aware news 24 का भी संचालन कर रहे हैं , शुभेन्दु बहुत सारे न्यूज़ पोर्टल तथा youtube चैनल को भी अपना योगदान देते हैं | अभी भी शुभेन्दु Golden Enterprises नामक फर्म का भी संचालन कर रहें हैं और बेहतर आईटी सेवा के लिए भी कार्य कर रहें हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *